Parenting Tips | आपके बच्चों को क्यों आता है गुस्सा, जानिए वजह, ये टिप्स कर सकती हैं बच्चों की परवरिश में आपको बड़ी मदद | Navabharat (नवभारत)

रिलेशनशिप्स

[ad_1]

आपके बच्चों को क्यों आता है गुस्सा, जानिए वजह, ये टिप्स कर सकती हैं बच्चों की परवरिश में आपको बड़ी मदद

Loading

सीमा कुमारी

नवभारत डिजिटल टीम: ये तो सभी जानते हैं कि, हर पेरेंट्स के लिए उनके बच्चे बहुत ही लाडले होते हैं, लेकिन कई बार बच्चों की कुछ गलतियों के चलते पेरेंट्स बच्चों पर बहुत ही ज्यादा गुस्सा करने लगते हैं। गुस्सा कई बार ऐसी स्थिति पैदा कर देता है कि हम खुद पर काबू नहीं रख पाते हैं।

घर की बात करें तो, ये माता-पिता और बच्चों दोनों के लिए ही गुस्सा करना मुश्किल पैदा कर सकता है। माता-पिता और बच्चे दोनों ही गुस्से जैसी समस्याओं से घिरे रहते हैं। चिल्लाते हैं, एग्रेसिव हो जाते हैं और बच्चों पर हाथ उठाने की गलती भी कर बैठते हैं। बच्चों पर ज्यादा गुस्सा करना ठीक नहीं होता। जिस तरह से बच्चों का जवाब देना आपको पसंद नहीं आता है, वैसे ही बच्चों को भी आपका गुस्सा अच्छा नहीं लगता है।

अगर आपको भी बच्चों की आदतों पर बहुत ज्यादा गुस्सा आता है, तो ऐसे में कुछ ऐसे टिप्स जिनके जरिए आप बच्चों का गुस्सा कंट्रोल कर सकते हैं। आइए जान लें इन टिप्स के बारे में-

प्राप्त जानकारी के अनुसार, कई बार बच्चों की हरकतें देखकर पेरेंट्स चिढ़ जाते हैं और सोचते हैं कि वह ही बुरे हैं और उन्होंने बच्चों को अच्छी परवरिश नहीं दी। ऐसे में आप भी यह सोचना छोड़ दें, क्योंकि बच्चे ऐसे करते ही हैं उनके दिमाग का अभी तक इतना विकास नहीं हुआ। उन्हें समझने की कोशिश करें और बच्चों का पूरा साथ दें। आपके ऐसे बिहेवियर से बच्चे शांत हो जाएंगे।

डॉक्टर भावना का कहना है कि बच्चे तभी ज्यादा बोलते हैं जब वो खुद अपनी फीलिंग्स को सामने नहीं बता पाते हैं। एक ऐसा बच्चा जो अपनी फीलिंग्स को बता नहीं पाता वो गुस्से और फ्रस्ट्रेशन के जरिए अपने इमोशंस को दिखाता है।

बच्चों को उनकी भावनाएं पहचानने का मौका दें और उन्हें बेसिक फीलिंग्स के बारे में समझाएं। अगर बच्चों को उनकी फीलिंग्स समझ नहीं आएगी तो वो इसी तरह से रिएक्ट करेंगे। उन्हें गुस्सा, दुख, खुशी, डर, दुखी आदि के बीच का अंतर आपको ही समझना होगा। आप उनसे ऐसे बात करें कि, ‘लगता है तुम इस वक्त गुस्सा महसूस कर रहे हो।’

यह भी पढ़ें

गुस्सा कंट्रोल करना सिखाने के लिए बच्चों को एंगर थर्मामीटर बनाकर दें। जीरो से 10 तक नंबर डालें और फिर उन्हें उनके गुस्से के हिसाब से रेट करें और बताएं कि वो कहां गलत हैं। गुस्से पर गुस्सा करना सही नहीं होता।

शुरुआत से ही बच्चों को गुस्सा कंट्रोल करने के स्किल्स सिखाएं। बच्चों को बताएं कि अगर उन्हें बहुत गुस्सा आ रहा है तो वो 10 तक गिनें या फिर उन्हें साथ लेकर वॉक पर जाएं। उन्हें एंगर मैनेजमेंट के कुछ तरीके समझाएं।

बच्चों को कभी भी गुस्से में सजा न दें। इससे बच्चों की मेंटल हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है। ये आगे चलकर उनके भविष्य में बुरी तरह प्रभावित कर सकता है। यदि आपको ज्यादा गुस्सा आए तो शांत रहें और गहरी सांस लें।

एक्सपर्ट्स के अनुसार, जब भी बच्चा गुस्सा करे तो आप खुद को यह बात याद करें कि आपके बच्चे में कोई भी प्रॉब्लम नहीं है वह अक्सर ऐसी हरकतें करते हैं। हर तरह के बच्चे ऐसी हरकतें करते हैं ऐसे में आप यह सोचना बिल्कुल ही छोड़ दें कि आपके बच्चे ही ऐसे हैं।



[ad_2]
Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *