sonipat out of 37 km drain in the city 12 km is littered with soil and garbage overflow occurs in rain

शहर में 37 किमी ड्रेन में से 12 किमी मिट्‌टी व कचरे से अटी, बारिश में होती है ओवरफ्लो

ब्रेकिंग न्यूज़ विशेष सोनीपत

मानसून की बरसात शुरू हो चुकी है, लेकिन अभी तक पूरी तरह से नालों की सफाई का कार्य भी नहीं हो पाया है। जिसकी वजह से बरसात होने पर शहर में जलभराव की समस्या का सामना करना पड़ेगा। पूरे शहर में करीब 37 किमी लंबी ड्रेन बनाई गई है। जिसमें जनस्वास्थ्य विभाग, नगर निगम और पीडब्ल्यूडी की ड्रेन शामिल है।

नगर निगम द्वारा सफाई का कार्य कराया जा रहा है, लेकिन पीडब्ल्यूडी ने ड्रेन की सफाई का कार्य अब तक शुरू भी नहीं किया है। जिससे इन ड्रेनों में कचरा भरा पड़ा है। आधे शहर में दुकानदारों ने ड्रेन के ऊपर रैंप बना दिया है। जिसकी वजह से सफाई का कार्य पूरी तरह से नहीं हो पाया है। ऐसे में पानी आगे पास होने में दिक्कत होती है। जिससे आने वाले दिनों में शहर में जलभराव से शहरवासियों को जूझना पड़ेगा। करीब 12 किमी ड्रेन पूरी तरह से अटी पड़ी है।

जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा कुछ साल पहले शहर भर में 24 किमी लंबी ड्रेन का निर्माण कार्य किया गया था। जबकि पीडब्ल्यूडी द्वारा भी करीब आठ किमी लंबी ड्रेन का निर्माण कार्य किया गया है। ताकि सड़कों पर पानी जमा न हो। पीडब्ल्यूडी द्वारा बनाई गई ड्रेन को आज तक कहीं भी जोड़ा नहीं जा सका है। यह ड्रेन छोटूराम चौक से बड़वासनी तक बनाई गई है। जिसमें भारी मात्रा में कचरा भरा पड़ा है। जगह-जगह से टूटी ड्रेन में पानी जाना तो दूर की बात है, बरसात होने पर ड्रेन का पानी भी सड़क पर आ जाता है।

सफाई में यह दिक्कत हाेती है
कई स्थानों पर दुकानदारों ने ड्रेन पर रैंप बना लिया है। जिसकी वजह से सफाई के लिए लगाई जाने वाली जेसीबी पूरी तरह से चल नहीं पाती है। लिहाजा उस हिस्से में कचरा रह जाता है। जिससे बरसात होने पर पानी इकट्ठा हो जाता है। इससे शहर में पानी निकासी में 3 से 4 घंटे के समय का इंतजार करना पड़ता है। दुकानदारों द्वारा गोहाना रोड, ओल्ड डीसी रोड, मुरथल अड्‌डा रोड, सब्जी मंडी के पास आदि स्थानों पर ड्रेन के ऊपर रैंप बनाया गया है। जिसकी वजह से सफाई का कार्य प्रभावित हो रहा है।

दीवारें व स्लैब ड्रेन में टूटकर गिरे
विभिन्न विभागों द्वारा बनाई गई ड्रेन कई जगहों पर टूट गई है। सब्जी मंडी के पास ड्रेन की दीवार टूटी है तो गोहाना रोड पर लघु सचिवालय के नजदीक स्लैब टूट कर ड्रेन मे ही गिर गई है। वहीं गोहाना रोड बाईपास के पास आवागमन के लिए पुलिया नुमा डाली गई स्लैब आधी धंस गई है। इसके अलावा भी कई स्थानों पर समस्या बनी है। जिससे लोगों को बरसात में दो चार होना पड़ेगा। क्योंकि इनसे पानी पास होने के बजाय इनका पानी भी रोड पर ही आता है।

बरसात के बाद अटी

शहर में पानी निकासी के लिए बनाए गए ड्रेनेज सिस्टम में करीब 12 किमी हिस्सा मिट्‌टी और कचरा अटा है। पिछले दिनों हुई बरसात के बाद सड़क का कचरा इसमें चले जाने की वजह से यह और भी अट गई है। छोटूराम चौक के दुकानदार रमेश कुमार ने बताया कि लंबे समय से ड्रेन की सफाई का कार्य नहीं किया गया है। बरसात के बाद कई दिनों तक बदबू की स्थिति बनी रहती है। खास बात यह है कि इस ड्रेन को कहीं पर जोड़ा नहीं गया है।

नगर निगम द्वारा सीवरेज और ड्रेनेज सिस्टम की सफाई का कार्य किया जा रहा है। 90 प्रतिशत कार्य पूरा कर लिया गया है। रैंप की वजह से दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि ऐसे में स्थानों पर लेबर के माध्यम से कार्य कराया जा रहा है। -अशोक रावत, एसई नगर निगम सोनीपत।

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *